अमेठी में शाह-योगी-स्मृति का राहुल पर वार, कहा- 3 पीढ़ियों का दें हिसाब

0

कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी और भारतीय जनता पार्टी के बीच इन दिनों आर-पार की लड़ाई चल रही है. राहुल गांधी गुजरात में घूम-घूम कर मोदी सरकार और बीजेपी पर तीखा वार कर रहे हैं. तो अब बीजेपी ने भी राहुल को उनके घर से ही घेरने की रणनीति पर काम किया है.

इसी कड़ी में बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह, केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी, उत्तर प्रदेश के सीएम योगी आदित्यनाथ और डिप्टी सीएम केशव मौर्य, यूपी अध्यक्ष महेंद्रनाथ पांडे रैली अमेठी में रैली कर रहे हैं. शाह ने रैली में घोषणा की कि यूपी को 2022 तक गुजरात जैसा बनाएंगे.

बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह ने कहा कि‍ मैंने विधानसभा में अपील की थी कि‍ यूपी में अमेठी की सीटों से सरकार बनाना चाहता हूं. मेरी इस अपील को अमेठी की जनता ने पूरा‍ किया. पांच में चार सीट जीताकर अमेठी की जनता ने हमारी मदद की. शाह ने कहा कि मैंने पहली बार देखा कि जीता हुआ प्रत्याशी जनता का हाल न ले और हारा हुआ प्रत्याशी क्षेत्र में विकास का काम करें. स्मृति ईरानी ने यह उदाहरण पेश किया है.

शाह ने कहा कि अमेठी की धरती से कांग्रेस के शहजादे से पूछना चाहता हूं कि तीन तीन पीढ़ी को यहां की जनता ने वोट किया. आप मोदी सरकार से तीन साल का हिसाब मांगते हो, मैं आपसे तीन पीढ़ी का हिसाब मांगता हूं. राहुल आप इतने साल से सांसद है, अमेठी में कलेक्ट्रेट ऑफिस क्यों नहीं शुरु हुआ. अस्पताल टीबी यूनिट क्यों नहीं शुरू हुआ. शाह ने कहा कि देश में दो प्रकार के विकास का मॉडल है, गांधी नेहरू परिवार का मॉडल और एक मोदी का विकास का मॉडल.गांधी नेहरू परिवार के मॉडल का हाल आप अच्छी तरह से जानते हो.

बीजेपी अध्यक्ष ने कहा कि मैं बताना चाहता हूं जब कांग्रेस की केंद्र सरकार थी तो यूपी को 2 लाख 80 हजार करोड़ मिलता था, 7 लाख 10 हजार करोड़ देने का काम मोदी सरकार ने किया है. शाह ने कहा कि मोदी सरकार तीन साल में युवाओं, महिलाओं, आदिवासियों, गरीबों के लिए 106 से ज्यादा योजनाएं लाई. इसके बाद अमित शाह ने योजनाओं को पढ़ना शुरू कर दिया. शाह ने कहा कि लगता है कि‍ राहुल बाबा को 106 की गिनती नहीं आती है, इसलिए वह सवाल पूछते हैं. राहुल पूछते हैं कि हमने क्या काम किया तो हम बता रहे हैं कि राहुल बाबा हमने सबसे पहले बोलने वाला पीएम देने का काम किया.

सर्जिकल स्ट्राइक पर शाह बोले कि मोदी सरकार ने उरी आतंकी हमले का बदला सर्जिकल स्ट्राइक से लिया. ऐसा पहले कभी नहीं हुआ था. शाह ने कहा कि‍ हम 2019 में आएंगे तो अपने काम का हिसाब लेकर आएंगे. अमेठी की जनता से शाह ने कहा कि आपने साठ साल तक एक परिवार पर भरोसा किया अब एक बार मोदी पर भरोसा करो.

इससे पहले जनता को संबोध‍ित करते हुए यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ ने कहा कि‍ पूरी दुनिया में पीएम नरेंद्र मोदी की वजह से भारत को प्रतिष्ठा प्राप्त हुई है. नोबेल भी उस अर्थशास्त्री को प्राप्त हुआ है,  जिसने सबसे पहले पीएम मोदी की नोटबंदी योजना को समर्थन दिया था. सीएम योगी आदित्यनाथ ने क‍हा कि पहले किसान को उनकी फसल का सही दाम नहीं मिल पाता था, बीजेपी जब प्रदेश में सत्ता में आई तो 37 लाख मीट्र‍ि‍क टन सीधे गेंहू किसानों से खरीदा गया. धान क्रय की व्यवस्था की गई है.


योगी ने कहा कि हमने बिचौलियो को हटाया. योगी ने कहा कि बिचौलियो प्रथा का हटना मतलब कांग्रेस का बेरोजगार हो जाना है. आजादी के बाद कांग्रेस ने इस प्रथा की शुरुआत की. योगी ने कहा कि अमेठी और रायबरेली को सबसे ज्यादा चोट पहुंची है. इन लोगों ने कभी भी इस क्षेत्र के विकास में योगदान नहीं दिया. वहीं संवेदनशील बीजेपी सरकार ने अमेठी लोकसभा सीट पर हार के बावजूद इस क्षेत्र में काम किया है. सांसद स्मृति ईरानी इस क्षेत्र के विकास के लिए काम कर रही हैं.

वाड्रा और राहुल गांधी पर एक साथ निशाना साधते हुए योगी ने सम्राट साइकिल विवाद का जिक्र करते हुए कहा कि कहीं दामाद जमीन हड़पे, कहीं पुत्र ही जमीन हड़पने का काम करे, लेकिन यह यूपी में नहीं चलने देंगे. यूपी में किसी को फाउंडेशन के नाम पर किसानों की जमीन नहीं हड़पने देंगे. योगी ने कहा कि बीजेपी की अमेठी की रैली के डर से राहुल गांधी ने कुछ दिन पहले अपने क्षेत्र का दौरा किया.

वहीं रैली में बोलते हुए सांसद स्मृति ईरानी ने अपने भाषण में राहुल पर कई वार किए. उन्होंने कहा कि साढ़े तीन साल पहले मैं अमेठी आई तो यहां पार्टी के कार्यकर्ताओं ने मन से स्वागत किया. मेरे जीवन का सबसे बड़ा सौभाग्य यह है कि मैं पार्टी में एक कार्यकर्ता बनकर आई और आज अमेठी की दीदी बन गई हूं. ईरानी ने राहुल पर वार करते हुए पिपरी गांव का उदाहरण देते हुए कहा कि इस संसदीय क्षेत्र के लोग उनसे मिल नहीं सकते हैं. ईरानी ने कहा कि अमेठी का नाम सुनकर उन लोगों को सांप सूंघ जाता है जो देशभर में घूमकर विकास नहीं होने की बात कहते हैं.


स्मृति ने कहा कि अमेठी में जो साठ साल में नहीं हो पाया वह योगी सरकार ने 7 महीने में कर दिखाया. स्मृति ने कहा कि कांग्रेस ने अमेठी को सिर्फ वोट की नजर से देखा है. स्मृति ने कहा कि नेहरू, इंदिरा और राजीव गांधी ने ऊंचाहार से रेल लाइन का वादा तो किया लेकिन उस योजना के लिए सर्वे और 190 करोड़ का आवंटन पीएम नरेंद्र मोदी के कार्यकाल में पूरा हुआ है.  स्मृति ने आगे कहा कि अस्पताल में टीबी का यूनिट भी तब लग रहा है जब बीजेपी की सरकार है. सम्राट साइकिल योजना का उदाहरण देते हुए ईरानी ने कहा कि सम्राट साइकिल योजना की जमीन का कब्जा राहुल के राजीव गांधी फाउंडेशन ने कर रखा है. यूपी सरकार के आदेश के बावजूद राहुल गांधी ने जमीन नहीं लौटाई है.

अमेठी में इस दौरान कई योजनाओं की भी शुरुआत हुई. गौरतलब है कि 2014 के लोकसभा चुनाव में स्मृति ईरानी अमेठी से चुनाव लड़ी थी लेकिन हार गई थी. इसके बावजूद भी वह लगातार अमेठी से जुड़ी रही हैं. ईरानी सोमवार से ही यहीं पर डेरा जमाए हुए हैं.

इन योजनाओं की हुई शुरुआत –

भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित भाई शाह ने अमेठी के ढाई हजार लोगों को प्रधानमन्त्री आवास दिया.

100 लोगों को राष्ट्रीय पारिवारिक लाभ योजना के अंतर्गत स्वीकृति पत्र दिया गया.

25 दिव्यांगजनों को ट्राई साइकिल दी गई और उनकी रैली को हरी झंडी दिखाई गई तो 700 श्रमिकों को कल्याणकारी योजनाओं से लाभान्वित किया गया.


स्वच्छ भारत अभियान के अंतर्गत 3000 लोगों को शौचालय वितरित किया गया.

अमित शाह ने आज मंच से ही कई योजनाओं का लोकार्पण किया. इसमें गौरीगंज में राजकीय क्षयरोग अस्पताल, बहादुरपुर में प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र, मुसाफिरखाना में प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र, अमेठी विकास खंड और भादर विकास खंड में रोगी आश्रय स्थल का शामिल हैं.

वहीं अमेठी संसदीय क्षेत्र के सुल्तानपुर में गोमती नदी के किनारे 1900 मीटर लंबा लांचिंग एप्रन, अमेठी में सीएमओ आफिस और आवास के लिए भवन, नगर पालिका गौरी गंज में एफ एम रेडियो, अमेठी कलेक्ट्रेट के कर्मचारियों के लिए आवासीय एवं अनावासीय भवन, ग्राम ताला में मृदा परीक्षण प्रयोगशाला के साथसाथ विकासखंड अमेठी में सी एच सी सेंटर का शिलान्यास किया गया.

राहुल ने अमेठी से किया था सीधा वार

अपने अमेठी दौरे पर राहुल ने प्रधानमंत्री पर तीखी टिप्पणी करते हुए कहा था, “प्रधानमंत्री को यह शोभा नहीं देता है कि जब भी कोई बिगड़ती अर्थव्यवस्था की बात करता है, बढ़ती बेरोजगारी की बात करता है, किसानों की आत्महत्या की बात करता है, तो कोई ना कोई बहाना बना देते हैं. ये समय पैनिक करने का नहीं है, फॉक्स करने का है. प्रधानमंत्री को बहाने देना बंद कर देना चाहिए”

अमेठी पर बीजेपी की नजर

अमेठी कांग्रेस का गढ़ माना जाता था. 2014 के लोकसभा चुनाव में यहां राहुल और स्मृति के बीच कड़ा चुनावी मुकाबला देखने को मिला था. चुनाव राहुल जीते थे. राहुल को चार लाख आठ हजार 651 मत मिले जबकि स्मृति ईरानी को तीन लाख 748 वोट हासिल हुए थे. चुनाव हारने के बावजूद स्मृति की सक्रियता अमेठी में बनी रही.

बात 2017 के उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव की करें तो बीजेपी ने कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी के निर्वाचन क्षेत्र रायबरेली और राहुल के निर्वाचन क्षेत्र अमेठी के तहत आने वाली दस विधानसभा सीटों में से 6 पर जीत दर्ज की थी.

You might also like More from author

Leave A Reply

Your email address will not be published.

https://wp.me/p8vtD7-2Vd